युगवार्ता

Blog single photo

कृषक परिवारों में बढ़ी आय असमानता

18/07/2019

कृषक परिवारों में बढ़ी आय असमानता

युगवार्ता डेस्क
एक तरफ केंद्र सरकार का 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य है। वहीं नाबार्ड द्वारा किए गए सर्वेक्षण में कृषि परिवारों के बीच अंतर-राज्य आय असमानता के उच्च स्तर को दर्शाता है। सर्वेक्षण के मुताबिक कृषक परिवारों में राज्यों के बीच आय असामनता 16020 रुपये सबसे अधिक पंजाब में है।
वहीं सबसे कम आंध्र प्रदेश में 5842 रुपये है। यह ग्राफ 2017 में उपभोग व्यय के बाद बने अधिशेष के खिलाफ कृषि परिवारों की मासिक औसत आय को दिखाता है। आय की यह असमानता एक दूसरे रूप में भी व्याप्त है। एक तरफ देश के 85 प्रतिशत किसान कुल कृषक आय का मात्र 9 प्रतिशत हिस्सा कमाते हैं जबकि बचे 15 प्रतिशत किसानों का 91 प्रतिशत हिस्सा पर कब्जा है। हालांकि इस असमानता में उपलब्ध भूमि एक महत्वपूर्ण कारक है। इस व्यापक असमानता को दोखते राज्य और केंद्र सरकार को छोटे किसानों पर विशेष ध्यान देना होगा।


 
Top